लॉक डाउन के चलते विहिप के निर्देश पर लोगों ने घरों में ही रहकर राम नवमी मनाई

0

ललित जोशी की रिपोर्ट

पूज्य सन्तों व विहिप के आवाहन पर घरों में धूमधाम से मनी रामनवमी कोरोना लॉकडाउन संकट के समय राष्ट्र हित सर्वोपरी को लिया गया निर्णय
बिजनौर:
कोरोना लॉकडाउन के कारण राष्ट्र हित सर्वोपरी को ध्यान में रखते हुए पूज्य सन्तों व विहिप के आह्वान पर रामनवमी उत्सव सामूहिक स्वरूप में नही राम भक्तों ने उत्सव पारिवारिक मनाया। मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम का जन्मोत्सव सामूहिक रूप से भक्तजन बड़ी संख्या में मन्दिरों में इकट्ठे होकर पूजा-अर्चना कर मानते चले आ रहे है। इस बार देश संकट में है। इसको देखते हुए पूज्य सन्तों व विहिप ने यह उत्सव घरों में ही मनाने का आग्रह किया गया था। महंत नृत्यगोपालदास मणिरामदास छावनी अयोध्या अध्यक्ष श्रीराम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र, युगपुरुष स्वामी परमानन्द गिरि अखण्ड परमधाम,हरिद्वार सदस्य श्रीराम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र,एडवोकेट आलोक कुमार कार्याध्यक्ष विश्व हिन्दू परिषद,जस्टिस विष्णु सदाशिव कोकज अध्यक्ष विश्व हिन्दू परिषद की ओर से जारी प्रेस नोट के आधार पर रामनवमी का पवित्र त्यौहार घरों में ही परिवार के साथ मनाने के निर्णय पर विहिप के कार्यकारी जिलाध्यक्ष मनोज शर्मा, विहिप मंत्री जितेंद्र चौधरी,ज़िला मंत्री केलाश उपाध्याय,ज़िला सह मंत्री अनिल चौधरी,सौरव शर्मा आदि ने सभी से उत्सव को धूमधाम से मनाने के आह्वान के साथ परिवार के साथ रामनवमी मनाई।
पूज्य सन्तों व विहिप ने आवाहन किया था रामनवमी का पवित्र त्यौहार आने वाला है । इस शुभ अवसर को भक्तजन मन्दिरों में बड़ी संख्या में इकट्ठे होकर मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम का जन्मोत्सव सामूहिक रूप से मनाते आ रहे हैं । इस वर्ष संसार में विशेष आपात स्थिति बन गई है । हमारा देश भी उस प्राणघातक कोरोना महामारी से जूझ रहा है । हमें इस महामारी पर उसी प्रकार विजय प्राप्त करनी है जैसे प्रभु श्रीराम ने सभी संकटों पर विजय प्राप्त की । अत : हम सब सरकार के सभी निर्देशों का पालन करते हुए भगवान का जन्मोत्सव पहले से भी अधिक उत्साह और उल्लास के साथ मनाएंगे । हम समस्त रामभक्तों का आवाहन करते हैं कि रामनवमी ( चैत्र शुक्ल नवमी तदनुसार 02 अप्रैल , 2020 ) को मध्यान्हकाल दिन में 12 बजे अपने – अपने घर में प्रभु श्रीराम के विग्रह अथवा चित्र के सामने परिवार के साथ बैठकर धूमधाम से भजन – पूजन करें , आरती उतारें , तत्पश्चात् एक माला ( 108 बार ) विजय महामत्रं ( श्रीराम जय राम जय जय राम ) का जाप करें। घर के दरवाजे पर दीप जलाएं , अपने गाँव , मोहल्ला , बस्ती के मन्दिरों में भी दीपजलाने की तथा यथासंभव रामचरित्र का ध्वनि विस्तारक के माध्यम से प्रसारण की व्यवस्था करें।ऐसा करने की प्रेरणा अपने पड़ोसियों , मित्रों व सम्बंधियों को भी दें।सारा भारत राम जन्मोत्सव धूमधाम से मनाए,यही समाज को हमारा संदेश है।आप सब सुखी रहें , स्वस्थ रहें , भगवान की कृपा आपको प्राप्त हो।रामनवमी उत्सव में कार्यकर्ताओं ने दीप प्रज्वलित किये ओर भगवान राम का गुणगान किया
~~~~~~

इन चीफ विनोद शर्मा

Leave A Reply