स्योहारा निवासी सोनू रस्तोगी ने एक बार फिर दिया इंसानियत का पैगाम मुस्लिम महिला को खून देकर बचाई उसकी जान

0

स्योहारा से संजय शर्मा की रिपोर्ट

एक तरफ जहां देश भर में धर्म और जाति को लेकर इंसान ही इंसान का खून बहा रहा है तो वहीं दूसरी तरफ कुछ ऐसे नेक इंसान भी हैं जो अपना खून देकर इंसानियत का पैगाम देते हैं।
नगर निवासी सोनू रस्तोगी भी ऐसे ही एक नेक बन्दे हैं जो समय समय पर अपना खून देकर लोगो की जान बचाने के लिए जाने जाते हैं।इस बार भी अपने जन्मदिन पर सोनू रस्तोगी ने एक मुस्लिम महिला को खून देकर न सिर्फ उस महिला की जान बचाई बल्कि एक बार फिर से आपसी भाईचारे का सन्देश समाज को देते हुए कट्टरवाद पर तमाचा मारा हैं।
शुक्रवार को सोनू रस्तोगी का जन्मदिन था उनके परिजन इसी खुशी में पूजा पाठ कर शाम के जश्न की तैयारी में थे इसी बीच सोनू को सूचना मिली कि नगर की ही एक बीमार महिला को जो कि मुरादाबाद भर्ती हैं को उनके खून की बहुत सख्त जरूरत है तो सोनू अपने परिजनों को निराश छोड़ तुरन्त मुरादाबाद पहुंचे और अपना रक्तदान कर महिला की जान बचाई।
जिसके बाद महिला व उनके परिजनों ने अपनी तमाम कीमती दुआओं से सोनू को नवाजा।
इस मौके पर सोनू रस्तोगी ने समाज को सन्देश देते हुए कहा कि रक्तदान महादान तभी पुरा कहलाता है जब आप खून देते हुए ज़रूरतमंद की जाती धर्म न देखें बल्कि केवल उसकी जरूरत को समझें साथ ही उन्होंने सभी से आपसी भाईचारा सलामत रखने की भी अपील की।

इन चीफ विनोद शर्मा

Leave A Reply