कोटद्वार में उत्तराखंड छात्र युवा संघर्ष समिति के केंद्रीय संयोजक रह चुके पूर्व राज्य मंत्री जसवीर राणा ने सरकार से आंदोलनकारियों पर दर्ज मुकदमे वापस लेने की मांग की

0

कोटद्वार से नितिन अग्रवाल की रिपोर्ट

कोटद्वार:- उत्तराखंड छात्र युवा संघर्ष समिति के केंद्रीय संयोजक रह चुके पूर्व राज्यमंत्री जसवीर राणा ने सरकार से आन्दोलनकारियों पर दर्ज मुकदमे अबिलम्ब वापस लेने की मांग की है।
बद्रीनाथ मार्ग स्थित कार्यालय में कांग्रेसजनों की बैठक मे राज्य आंदोलनकारियों पर मुकदमे दर्ज करने की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए सरकार से तत्काल मुकदमे वापस लेने की मांग की है।
उन्होनें कहाकि प्रदेश के राज्य आन्दोलनकारी अपनी मांगो को लेकर राजभवन जा रहे थे। सरकार ने उनकी मांगों पर तो सकारात्मक कार्यवाही तो नहीं की लेकिन उल्टा उन पर मुकदमे जरूर दर्ज कर दिये जिसे प्रदेश के आन्दोलनकारी किसी भी कीमत में बरदास्त नही करेंगे।
सरकार हर किसी की आवाज दबाने के लिए कोई भी कसर नहीं छोड रही है। लेकिन आन्दोलनकारियों पर मुकदमे दर्ज कर उन्होने अपने पैर पर कुल्हाडी मार दी।जब आन्दोलनकारी प्रदेश निर्माण की लम्बी लडाई लड सकते हैं तो अपनी लड़ाई लड़ना उनके लिये कोई बडी बात नही है। राज्य निर्माण आन्दोलन की तरह सरकार के खिलाफ अन्दोलन की आवस्यकता महसूस होने लगी है।
सरकार किसी समस्या का समाधान ढूँढने के बजाय सारी ताकत उसको दबाने में लगा रही है जो कतई प्रदेश हित में नही है।
बैठक में पूर्व राज्यमंत्री जसवीर राणा,देवेन्द्र भट्ट,राकेश शर्मा,बीरेन्द्र रावत,महेश नेगी,शुभलोक रावत,विनोद रावत,श्रीधर बेदवाल,प्रताप सिंह टम्टा,अतुल नेगी,महेश शाह,इरशाद सल्मानी,रज्नीश रावत,दिनेश शर्मा,आशुतोष कण्डवाल,बिजेन्द रावत,गौरव ठाकुर,भारत रावत आदि शामिल थे।

इन चीफ विनोद शर्मा

Leave A Reply