सरकार की उदासीनता के चलते व्यापारी वर्ग दम तोड़ रहा है सरकार व्यापारी वर्ग के लिए भी कल्याणकारी योजनाएं बनाएं, स्योहारा से (अरुण वर्मा)

0

स्योहारा से संजय शर्मा की रिपोर्ट

उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल के प्रदेश संयुक्त महामंत्री ,उत्तर प्रदेश स्वर्णकार समाज एसोसिएशन के प्रदेश चेयरमैन, एवं उत्तर प्रदेश ज्वेलर्स एसोसिएशन के प्रदेश महामंत्री अरुण वर्मा ने एक प्रेस वार्ता के दौरान बताया कि सरकार की रीढ़ कहे जाने वाले व्यापारी वर्ग सरकार की उदासीनता के चलते आज दम तोड रहे हैं। सड़को पर अपने अस्तित्व के लिए लड़ रहा है, वहीं दूसरी तरफ किसानों को सरकार अपनी तिजोरियो के मुंह खोल कर कभी खाते में तो कभी खाद पर सब्सिडी देकर तो कभी फसल की कीमत बढा कर , बिजली पर सब्सिडी कभी बिजली के बिल माफ कर, तो कभी बैंक से सस्ती दरों पर , बिना ब्याज के लोन की व्यवस्था, तो कभी बैंको से लिए ऋण को माफ करने की व्यवस्था में लगी रहती हैं। केंद्र और राज्य की सरकारे दूसरी तरफ सरकार के खजाने को भरने वाला व्यापारी सरकार से बिना तनख्वा लिए टैक्स इकठ्ठा करने वाला व्यापारी बिजली का पूरा बिल भरने वाला व्यापारी, बैंको से ऊंची दरों पर ऋण का पूर्ण भुगतान करने वाला व्यापारी,बिजली की ऊंची दरों को भरने वाला व्यापारी, अफसरों को नजराना ,शुकराना देने वाला व्यापारी, आज सरकार की नजरों मे चोर और जमाखोर की उपाधि से सम्मानित किया जाता है। हम उत्तर प्रदेश शासन से मांग करते हैं कि भूखे मरने वाले व्यापारी वर्ग के लिए भी प्रदेश की सरकार व केंद्र की सरकार दोनों को व्यापारिक कल्याणकारी योजनाएं बनाएं, साथ ही बिजली का बिल ,दुकान के किराए का बिल, जीएसटी और भी बहुत सारे लाइसेंस है उन सब में सरकार को माफ कर देना चाहिए ताकी भूख मरी के कगार पर पहुंचने वाला व्यापारी को कुछ राहत मिल सके।
बताते चले कि व्यापारी नेता अरुण वर्मा समय समय पर जागरूक रहकर व्यापारी वर्ग के लिए ज़रूरी मांगे व लड़ाई सरकार से करते रहते हैं और उन्ही की मेहनत और सक्रियता का नतीजा है कि कई बार सरकार ने अपने फैसले बदलते हुए व्यापारियों को राहत पहुंचाई है। और उनकी मांगों को माना है।

इन चीफ विनोद शर्मा

Leave A Reply