नजीबाबाद से सपना वर्मा की रिपोर्ट✍️

जिले में खुले आम हो रहा अवैध खनन पर्यावरण के लिए घातक सिद्ध हो रहा है। खनन के बाद निकाली गई मिट्टी हवा में उड़ कर शुद्ध वायु को दूषित करती है। जिसका प्रभाव मानव जीवन पर पड़ता है। सांस के साथ रेत के कण हमारे फेफड़ों में पहुंच जाते है। जिससे नई नई बीमारियां शरीर में घर बना लेती है। इस सब के बावजूद भी अवैध खनन से निपटने को लेकर पुलिस व प्रशासन द्वारा कोई ठोस कदम नहीं उठाया जा रहा है।
खनन की वजह से सरकार को राजस्व हानि के साथ ही प्राकृति को दैवीय खनिज की क्षति हो रही है। जिसको रोकने के लिए सरकार व जिला प्रशासन भरसक प्रयास कर रहा है। इस खनन का प्रभाव हमारे पर्यावरण पर प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष दोनों ही रुप से पड़ रहा है।
नजीबाबाद तहसील के कस्बा व देहात क्षेत्र में खनन माफिया हावी हैं। मिट्टी का अवैध खनन बड़े पैमाने पर चल रहा है। प्रतिदिन पुलिस व प्रशासन की नाक के नीचे से होकर मिट्टी भरे डंपर व ट्रैक्टर ट्रॉली निकलते हैं, लेकिन पुलिस व प्रशासन द्वारा इनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जाती। इससे ये लोग बुलंद हौसलों के साथ अपने काम में जुटे हुए हैं।सोमवार को एंटी करप्शन ब्यूरो एंड वेलफेयर फाउंडेशन के कार्यकर्ताओं द्वारा नजीबाबाद उप जिलाधिकारी, पुलिसक्षेत्राधिकारी व तहसीलदार को अवैध खनन को लेकर एक शिकायत दी गई है,जिसमें आये दिन दुर्घटनाओं, वायु प्रदूषण, बड़ी मात्रा में राजस्व की हानि व इससे क्षेत्रवासियों को होने वाली जनसमस्याओं का हवाला देते हुए एक एक शिकायती पत्र दिया गया हैं। उपजिलाधिकारी नजीबाबाद द्वारा शिकायत पर कार्यवाही कर खनन माफियाओं के खिलाफ उचित वैधानिक कार्यवाही करने का आश्वासन दिया हैं।

Published by 24 न्यूज इन इंडिया

वेब पोर्टल चैनल इन चीफ विनोद शर्मा

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *